Header Ads

अनिल सैनी ने शूट की वन टेक में 40 मिनट की शॉर्ट मूवी


जयपुर. राजस्थानी फिल्म निर्देशक अनिल सैनी ने अपनी हिंदी शॉर्ट फिल्म मुक्ति की शूटिंग में एक नया प्रयोग किया है। उन्होंने 40 मिनट की शॉर्ट मूवी वन टेक में शूट की है। एक बार एक्शन बोलने के बाद फिल्म की शूटिंग खत्म होने के बाद ही उन्होंने कट बोला।


सैनी ने बताया कि यह उनके लिए काफी चैलेंजिंग था। शुरू में डर भी लग रहा था कि यह हो पायेगा या नहीं पर मन के किसी कोने से आवाज आ रही थी कि रिस्क उठाना चाहिए। मैंने उइाया और रिजल्ट पॉजिटिव है। यह मेरी अकेले की नहीं बल्कि पूरी टीम की उपलब्धि है।

कई दिन की रिहर्सल


शूटिंग से पहले मैंने पूरी टीम के साथ राम नगर सोडाला स्थित लोकेशन पर ही रिहर्सल की। एक-दो दिन नहीं बल्कि पूरे आठ दिन। पांच दिन बिना कैमरे की रिहर्सल की उसके बाद कैमरे के साथ रिहर्सल की। तसल्ली होने के बाद कि मेरे साथ मेरे कलाकार और तकनीशिन तैयार हैं, शूटिंग स्टार्ट की। पहली ओर दूसरी बारी में कुछ न कुछ मिस्टेक हुई। इस पर फिर से उस हिस्से को फोकस करके रिहर्सल की। फाइनली तीसरी बार एकदम ओके शॉट रहा।

शॉल्डर पर हुआ पूरा शूट


शूटिंग में हमने ट्राइपोड, टॉली या क्रेन कुछ भी यूज नहीं किया क्योंकि एक ही टेक में पूरा शूट था और सीन मूविंग थे। आर्टिस्ट के साथ-साथ कैमरे का मूव था। थोड़ी परेशानी तो हुई, लेकिन पूरी टीम ने शूट खूब एंजॉय किया। इस तरह का सबका पहला अनुभव होने के कारण सब एक्साइट थे।
सैनी ने बताया कि मुक्ति बुजुर्ग माता-पिता का दर्द बयां करती है। हमेने दिखाया है कि किस तरह अपने करियर की चाह में माता-पिता को छोड़कर चले जाते हैं। जब उन्हें अपनी गलती का अहसास होता है तो बहुत देर हो चुकी होती है। तब उनके पास सबकुछ होता है पर मां-बाप नहीं होते।

यह है टीम


डायरेक्टर-अनिल सैनी
असिस्टेंट डायरेक्टर- रिया शास्त्री
लेखक – कैलाश सोनी
कलाकार-अल्ताफ खान, साहिल भाटी, भानुप्रिया
मेकअप -पंकज
प्रोडक्शन-रॉकी
केमरामैन-सोनू
आर्ट डाइरेक्टर- जस चौधारी
लाइट – एजाज खान

No comments