Skip to main content

Posts

Showing posts from February, 2012

लखविंदर सिंह की नई फिल्म की शूटिंग शुरू

निर्देशक लखविंदर सिंह की नई राजस्थानी फीचर फिल्म की शूटिंग 21 फरवरी से शुरू  हो गई। इसमें राजस्थान के कई नये कलाकारों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा।
निर्देशक लखविंदर सिंह की यह पांचवीं राजस्थानी फिल्म है। कुछ ही दिनों पहले आई उनकी फिल्म माटी का लाल गुर्जर मीणा सुपर डुपर हिट रही है, जिसका सीक्वल बनाने की वे पहले ही घोषणा कर चुके हैं। इसके अलावा साथ कदे न छूटे जल्द ही सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है। उनका कहना है कि वे लोगों की इस धारणा को तोडऩा चाहते हैं कि राजस्थानी फिल्में घाटे का सौदा है। अच्छी कहानी और सच्ची लगन के साथ फिल्म बनाई जाएगी तो जरूर चलेगी। 



आज रिलीज होगी भोभर

 जयपुर. निर्देशक गजेंद्र एस श्रोत्रिए की राजस्थानी फिल्म भोभर 17 फरवरी से सिनेमा घरों में रिलीज होगी। हरबिंगर क्रिएशन की यह फिल्म देश-विदेश में विभिन्न फिल्म समारोहों में दिखाई और सराही गई है।
फिल्म की कहानी, संवाद एवं गीत रामकुमारसिंह ने लिखे हैं। संगीत स्व. दानसिंह, राजीव थानवी एवं जएएनत्रिपाठी ने दिया है। गीतों को स्वर दिया है डॉ. सुमन यादव, राजीव थानवी व शिखा माथुर ने। बैकग्राउंड म्यूजिक अमित ओझा का है तथा सिनेमेटोग्राफी योगेश शर्मा ने की है। अमित सक्सेना, उत्तरांशी एवं विकास पारीक ने फिल्म में मुख्य भूमिकाएं निभाई हैं।
इन सिनेमा घरों में होगी रिलीज
Jaipur @ INOX SPACE - Banipark, Udaipur @ PICTURE PALACE, Jodhpur @ kOHINOOR, Sikar @ SAMRAT, Churu @ SHYAM CHHAVIGRAH, Fathepur @ JRG MOVIE PALACE, Sujangarh @ MOONLIGHT, Nawalgarh @ PREM PRAKASH, Nagaur @ LAXMI TARA, Kuchaman City @ KESARKALA MANDIR

लाडलो छोरो का मुहूर्त आज

जयपुर. लेखक निर्देशक आरडी भाटी की राजस्थानी फिल्म लाडलो छोरो का मुहूर्त 15 फरवरी को सुबह 10:30 बजे सीकर रोड स्थित आपणों गांव में होगा। यह जानकारी प्रवक्ता नंदू श्री मंत्री द्वारा सेन्चुरी फिल्म्स के लेटरहैड पर जारी विज्ञप्ति  में दी गई है।

राजस्थान का छोरा कर रहा है कुवैत में नाटक

जयपुर. राजस्थान में जन्मे अभिनेता देव कुम्हार इन दिनों कुवैत के रंगमंच पर अभिनय के रंग बिखेर रहे हैं। देव ने राजस्थानी फिल्मों में बाल कलाकार के रूप में अभिनय की शुरुआत की। वे आठ साल पहले कुवैत चले गए थे। कलाकार मन ज्यादा दिन चुप नहीं बैठ सका और वे फनकार आट्र्स ग्रुप  से जुड़ गए। वहां उन्होंने आरिफ काजी के सानिध्य में कई नाटक व स्टेज कार्यक्रम किए। प्रदेश की याद उन्हें फिर से अपने वतन आने को प्रेरित कर रही है। अब वे राजस्थानी व हिंदी फिल्मों में अपनी जगह बनाना चाहते हैं। उनकी उपलब्धियों को हाल ही कुवैत टाइम्स ने भी प्रकाशित किया है। कुवैत टाइम्स में प्राकशित लेख पढऩे के लिए फोटो पर क्लिक करें।

क्राइम पेट्रोल में नजर आएंगे सुदीप सारंगी

सोनी टेलीविजन पर 17 फरवरी को रात 11 बजे दिखाया जाएगा एपिसोड
जयपुर. राजस्थानी फिल्म माटी का लाल में अपने अभिनय से लोगों का ध्यान आकर्षित करने वाले अभिनेता सुदीप सारंगी सोनी टेलीविजन के लोकप्रिय शो क्राइम पेट्रोल में नजर आएंगे। उनका यह एपिसोड 17 फरवरी को रात 11 बजे दिखाया जाएगा।
सुदीप ने फोन पर बताया कि क्राइम पेट्रोल की यह कड़ी राजस्थान के डूंगरपुर जिले में घटित एक सत्य घटना पर  है। यह दो भाइयों के प्यार, उनकी भावनाओं और गलतफहमियों की कहानी है। इसमें सुदीप रघुवीरसिंह का किरदार निभाया है। सुदीप का कहना है कि यह उनके अब तक निभाए गए किरदारों में सबसे अलग है।
अन्य फोटो देखने के लिए क्लिक करें
http://www.facebook.com/media/set/?set=a.1851913033225.54021.1702740861&type=3

राजस्थानी सनीमां की मंदरी चाल

सत्तर साल होग्या पण सवा सौ को आंकड़ो भी पार कोने हुयो
शिवा'जी'
आपांने सत्तर साल होग्या फिल्मां बणातां पर हाल तक सवा सौ को आंकड़ो भी पार कोने कर सक्या। बताबा ने तो घणां कारण छे, पण हकीकत स्यूं आपां मूंडो नी मोड़ सकां के आपणी फिल्म बणाबा की गति बहोत ज्यादा धीमी रही। 1942 मैं आपणी भाषा में पहली फिल्म बणी। नाम छो नजराना। जीपी कपूर की या फिल्म कोई ज्यादा कोने चाली। ई के करीब 20 साल बाद बीके आदर्श एक फिल्म बणाई। नाम छो बाबा सा री लाडली। ईं फिल्म स्यूं ही सही मायना मैं आपणां सिनेमा की शुरुआत भी हुई।  ईं के बाद भी एक साल कोई फिल्म कोने बणी। 1963 अर 64 में यो उद्योग थोड़ी गति पकड़ी दोन्यूं साला में 3-3 फिल्मां रिलीज हुई। 1965 अर 1973 में एक-एक फिल्म रिलीज हुई। ईं के बाद फेरूं 7 साल तक कोई फिल्म कोने आई। 1981 में सुपातर बीनणी आई। बीनणी का पग ईं उद्योग में बड़ा शुभ पड्या। फिल्म खूब चाली। ईं फिल्म ने देखबा ने भीड़ कांई उमड़ी फिल्मां बणाबा ने निर्माता भी उमड़ग्या। ईं के बाद फिल्मां बणबा को ज्यो सिलसिलो शुरू होयो वा आज भी जारी छे। चाहे हर साल दो यातीन ही फिल्मां बण री छे पण यो उद्योग जिंदा छ…

‘चूंदड़ी ओढ़ासी म्हारो बीर’ ने किया जोरदार कलेक्शन

अजमेर. राजस्थानी फिल्म ‘चूंदड़ी ओढ़ासी म्हारो बीर’ के माया मंदिर अजमेर में केवल एक शो ने 7000 हजार का कलेक्शन किया है।
शुक्रवार को राजस्थान में रिलीज हुई इस फिल्म ने इसके साथ रिलीज हुई इमरान खान और करीना कपूर अभिनीत फिल्म ‘एक मैं और एक तू’ जो कई मायनों में इससे बेहतर होगी, अजमेर में टिकट खिड़की पर पानी पिला दिया। ‘चूंदड़ी ओढ़ासी म्हारो बीर’ के मुकाबले इसके साथ वाले शो में एक मैं और एक तू के कलेक्शन आधे ही थे।
रिश्तों का मार्मिक चित्रण
राजस्थानी भाषा व संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए बनाई गई राजस्थानी फिल्म चुंदड़ी ओढ़ासी म्हारो बीर राजपूत घराने के भाई, बहन एवं भाभी के मार्मिक रिश्तों व लोककथा पर आधारित है। 500 साल पुरानी लोक कथा पर आधारित फिल्म है। इसमें दो भाई, एक बहन और भाभी मां की कहानी को बड़े ही मार्मिक तरीके से वर्णन किया है। भाभी देवर और नंद के रिश्तों को बखूबी दर्शाया गया है। करीब दस माह में तैयार हुई इस फिल्म की शूटिंग पुष्कर में भी की गई थी। इसके अलावा अजमेर, कुचामन सहित अनेक जगहों पर शूटिंग हुई। एक करोड़ की लागत से निर्मित यह फिल्म राजस्थानी फिल्मों में सबसे महंगी फिल्म है। यह …

शिरीष कुमार बनाएंगे गुरुकुल

क्रेजी म्यूजिक एंड मूवीज प्रा. लि. की इस फिल्म की शूटिंग मार्च में संभव
जयपुर. लेखक-निर्देशक शिरीष कुमार अपनी राजस्थानी फिल्म लाडो मरुधरा की शान की सफलता के बाद अब गुरुकुल बनाएंगे। क्रेजी म्यूजिक एंड मूवीज प्राइवेट लिमिटेड के बैनर तले बन रही इस फिल्म की शूटिंग संभवत: मार्च में होगी।
शिरीष कुमार ने बताया कि वर्तमान शिक्षा और संस्कार की थीम पर बनने वाली इस फिल्म में राजस्थान की नई प्रतिभाओं को मौका दिया जाएगा। नये कलाकारों को लेने से केरेक्टर में भी नयापन आएगा। इसकी शूटिंग शेखावाटी अंचल व प्रदेश के अन्य हिस्सों में की जाएगी। फिल्म के निर्माता मुरारी लाल चुलेट हैं तथा लेखक-निर्देशक शिरीष कुमार होंगे। गीत कवि नत्थमल चुलेट ने लिखे हैं। जल्द ही फिल्म की कास्टिंग की जाएगी।

राजस्थानी फिल्म है, देखने जरूर जाएं

आज मुकेश टाक की राजस्थानी फिल्म चूंदड़ी ओढ़ासी म्हारो बीर रिलीज हो रही है। अगर आप राजस्थानी सिनेमा से थोड़ा सा भी प्यार करते हैं तो इसे देखने जरूर जाएं। एक दिन की चाय बीड़ी या फिर ओर कोई शोक कम कर लेना लेकिन यह फिल्म देखने जरूर जाना। ये सौ पचास रुपए आपकी जेब को नहीं सालेंगे, लेकिन ये डूबते राजस्थानी सिनेमा के लिए उस तख्ते की तरह साबित होंगे जो टाइटेनिक के डूबने के बाद हीरो हीरोइन को मिल गया था। जयपुर में कोई राजस्थानी फिल्म पहली बार इतने बड़े स्तर पर रिलीज हो रही है वो भी मल्टीप्लेक्स में। इस फिल्म का चलना नहीं चलना राजस्थानी फिल्मों का मल्टीप्लेक्स में भविष्य तय करेगा।

क्‍यों तनाव में हो? हम “अग्निपथ” नहीं रीलीज कर रहे हैं!

mohalla live se sabhar ♦ रामकुमार सिंह
सिनेमा बनाने से जुड़े संकल्‍प की एक राजस्‍थानी कहानी मोहल्‍ले में हमने बार-बार सुनायी है। फिर से उसी कहानी का एक और सिरा हाथ लगा है। 17 फरवरी को राजस्‍थान के कई सिनेमाघरों में भोभर रीलीज हो रही है। फिल्‍म के लेखक रामकुमार सिंह ने वितरण से जुड़े अपने रोमांच और ऐसी सच्‍ची कोशिशों को लेकर मीडिया की उदासीनता को इस आलेख में बयान किया है। आप इसे तो पढ़ें ही, इस फिल्‍म के बारे में अपने मित्रों से चर्चा भी करें। और अगर राजस्‍थान में हैं, तो भोभर देखने जरूर जाएं : मॉडरेटररात के तीन बज रहे हैं। बिस्‍तर में इधर उधर करवटें बदलने के बावजूद नींद नहीं आ रही है। यह उलझन है या अपनी उलझन का विस्‍तार। यह सृजन की पीड़ा है या एक अभिशाप है, जो न ढ़ंग से जीने देता है, न सोने, न मरने।
दिनभर भागदौड़ थी। एक भोभर, जिसमें हमारे सिनेमा के सपनों के आलू हमने ओट दिये थे, वह दो साल बाद भी सुलग रही है। आलू भुन गया है। मेरे सामने दिन में देखे फिल्‍म के सिक्‍स शीटर रखे हैं। बड़े-बड़े हॉर्डिंग्‍स पर टंगने के लिए छपने के लिए आयी प्रचार सामग्री है। मैं फिल्‍मों के पोस्‍टर …

आज रिलीज होगी चूंदड़ी ओढ़ासी म्हारो बीर

 जयपुर . कैर सांगरी एंटररटेनमेंट कंपनी प्राइवेट लिमिटेड व निर्माता मुकेश टाक सावर की राजस्थानी फिल्म चूंदड़ी ओढ़ासी म्हारो बीर 10 फरवरी को रिलीज होगी।
लाला हरदौल की लोक कथा पर आधारित एम निशांत द्वारा निर्देशित यह फिल्म जयपुर के पांच सिनेमाघरों में लगेगी, जिनमें 4 मल्टीप्लेक्स व एक सिंगल स्क्रीन है।  इसके अलावा यह जोधपुर, कोटा, बीकानेर और अजमेर के सिनेमाघरों में भी यह रिलीज की जा रही है।
निर्माता मुकेश टाक सावर ने बताया कि जिस जमाने की कहानी है, उसके अनुरूप ही इसे भव्य तरीके से फिल्माया भी गया है। राजाओं की आन-बान और शान को हूबहू दिखाने के लिए जहां कुचामन के किले में शूटिंग की गई है वहीं हाथी, घोड़े और ऊंटों का लवाजमा भी दिखाया गया है। यह फिल्म भावनाओं का समंदर है। इसमें एक मां की ममता है, बेटे का बलिदान है। एक पत्नी की अग्रि परीक्षा है और एक बहन का भरोसा भी।
फिल्म में टीवी कलाकार दिव्यांका त्रिपाठी रानी पद्मावती तथा सचिंदर राजकुमार हरदौल की भूमिका में हैं। देवेंदर भगत ने झुंझर सिंह का तथा दीप चोक्सी ने कुंजावटी का रोल किया है। बाल कलाकार की भूमिका निभाई है कुनाल ने। नृत्य निर्देशन राज…

कैमरामैन-एडिटर : परवेश सक्सेना

Working Experince 1. Having Experience Of About 10 Years in the Field Of Electronic Media.

2. Cameraman & News Stringer For Doordarshan Jaipur.

3. Can Operate all type of Video Camera Inccluding Mini DV/DSR/Sony D-35 & D-50,Digi Bita, DVC Pro etc.

4. Having Knowledge Of N.L.E. Edditing in F.C.P. (Apple), Edit Station Adobe Premiere/Canopus/Edius/Liquid & Video Studio.

5. Knowledge Of Software Adobe Photoshop/Coral/Acid Music/ Sound Forge/Bluff Titler/Zara 3D.

6. Working with E TV Rajasthan, Vision Music (mumbai) Channel.
contact
PRAVESH SAXENA 13 A Krishna Nagar 4th, Imliwala Fatak Jaipur (Raj)
Mob:9829123434, 9782298784
Email-: praveshsaxenaeditor@gmail.com

जॉलीवुड अब नये कलेवर में

राजस्थानी सिनेमा से जुड़ी पत्रिका ने सफलतापूर्वक किया एक साल पूरा जयपुर. राजस्थानी सिनेमा से जुड़ी संपूर्ण जानकारी देने वाली मासिक पत्रिका जॉलीवुड ने सफलतापूर्वक एक साल पूरा कर लिया है। नये साल में अब यह पत्रिका नये कलेवर के साथ बाजार में आई है।  पत्रिका का कवर पेज पहली नजर में ही भा जाने वाला है।
जॉलीवुड की प्रधान संपादक उषा जैन ने बताया कि जॉलीवुड में राजस्थानी सनेमा से जुड़े हर शख्स की जानकारी देने का प्रयास किया जाएगा-चाहे वह किसी भी रूप में जुड़ा हो। निर्माता निर्दशक और कलाकर से लेकर स्पॉट ब्वाय तक को पूरा कवरेज दिया जाएगा। स्थापित लोगों के साथ ही उभरती प्रतिभाओं को भी पूरा प्रमोट किया जाएगा। इसके अलावा राजस्थानी फिल्मों के मुहूर्त, शूटिंग की कवरेज के साथ ही समीक्षा भी प्रकाशित की जाएगी। इसमें रंगमंच को भी पूरा स्थान दिया गया है। थियेटर्स के साथ ही उनमें हर महीने खेले जाने वाले नाटकों और उनसे जुड़े लोगों के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाएगी।
जॉलीवुड के संपादक श्रवण जैन ने बताया कि-कोई भी फिल्म कलाकार यहां तक कि टीवी का कोई नया कलाकर भी जयपुर आता तो सारे अखबारों में उसकी खबर होती ह…

पंजाब दे मुंडे, राजस्थाऩ में छाए

सुनहरा राजस्थान समाचार पत्र ने छापी इनकी सफलता की कहानी
जयपुर. पंजाब से दो नौजवान राजस्थान आए। यहां की माटी और उसके सौंदर्य ने उनको इतना लुभाया कि वे यहीं के होकर रह गए। उन्होंने राजस्थानी सिनेमा को एक नई दिशा देने का बीड़ा उठाया और पहली ही फिल्म से छा गए। फिल्म सुपर-डुपर हिट रही। इनकी इस सफलता ने राजस्थानी भाषा में फिल्म बनाने से डरने वालों में हिम्मत पैदा कर दी है। ऐसे कई निर्माता अब राजस्थानी फिल्म बनाने में आगे आ रहे हैं जो राजस्थानी के नाम से ही बिदकते थे। ये नौजवान हैं   निर्देशक लखविंदर सिंह और निर्माता अभिनेता नितिन जोशी। इनकी सफलता की कहानी सुनहरा राजस्थान ने छापी है। सुनहरा राजस्थान को बहुत धन्यवाद कि राजस्थानी फिल्म बनाने वालों को इतनी जगह दी। नीचे दी गई फोटो पर क्लिक कर खबर पढ़ी जा सकती है।

Recent in Sports