Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2011

अभिनेता : अंदाज खान

 जन्म
    जयपुर (राजस्थान)उम्र 40 वर्षपहली राजस्थानी फिल्म माटी का लाल गुर्जर मीणाअब तक तीन राजस्थानी फिल्मों में अभिनय किया। माटी का लाल गुर्जर मीणा व महर करो पपळाज माता रिलीज। साथ कदे न छूटे निर्माणाधीन।विशेष 15 साल से रंगमंच पर सक्रिय। इस दौरान कई धारावाहिकों व टेलीफिल्मों में विभिन्न किरदार निभाए। संपर्क mob. no. +919928276004

आने वाली फिल्म : राजू बण ग्यो एमएलए

फिल्म राजू बण ग्यो एमएलए बैनर  अरुनील फिल्म्स और आर के बी फिल्म्सनिर्देशक
सुनीत कुमावतनिर्माता 
महफूज अली, हितेश कुमार, जस्मिन कुमारकहानी 
अरविंद कुमारकलाकार
नीलू, अरविंद कुमार, अशोक भाटिया, अली खान, जस्मिन कुमार, इमरान खान, इशिका, प्राग्ना, मोहन कटारिया, अंजली, सुनीता, रानो, मीनाक्षी व अन्य।शटिंग स्थल
ब्यावर व आसपास का क्षेत्र।

माटी का लाल एक बार फिर गंगापुरसिटी में

1 दिसंबर को लगेगी कैलाश टाकीज में, पहले भी यहां मचा चुकी है धूम
 जयपुर. जनता की बेहद मांग पर आपके शहर में एक बार फिर.... और फिर नीचे फिल्म का नाम। यह लाइन उन हिंदी फिल्मों के पोस्टरों पर लिखी रहती थी, जो अच्छी चलने के कारण थोड़े ही दिनों बाद फिर से उसी शहर के सिनेमा घरों में प्रदर्शित की जाती थी। सालों बाद यह दौर फिर से लेकर आ रही है राजस्थानी फिल्म माटी का लाल गुर्जर-मीणा। गंगापुरसिटी में पिछले दिनों धूम मचा चुकी यह फिल्म 1 दिसंबर से एक बार फिर यहां कैलाश टाकीज में लग रही है।
सामाजिक समरसता का संदेश देती नक्षत्र एंटरटेनमेंट की यह फिल्म दो घंटे की है। इसके निर्देशक लखविंदर सिंह हैं तथा निर्माता नितिन जोशी हैं। फिल्म के सिनेमेटोग्राफर एस जहांगीर हैं। संवाद व कहानी केनन अय्यर ने लिखी है। फिल्म में दो हीरो हैं-नितिन जोशी एवं रमेश गुणावता। मुख्य खलनायक जयपुर के अंदाज खान हैं तथा उनके सहयोगी की भूमिका में हैं सिकंदर चौहान। स्वाति अग्रवाल, सुदीप, रमेश गुनावता, नेहा, प्रदीप एवं कुसुम गुप्ता ने भी महत्वपूर्ण किरदार निभाए हैं।

ए जर्नी विद माटी का लाल

अपनी फिल्म माटी का लाल के प्रदर्शन के बाद से निर्देशक लखविंदर सिंह व निर्माता अभिनेता नितिन जोशी डेढ़ महीने से राजस्थान में हैं। इस दौरान सिनेमा हॉल्स में उनका हौंसला बढ़ाने मीणा व गुर्जर समाज के कई जनप्रतिनिधि व अधिकारी आए। उन्होंने फिल्म देखी और पूरा सहयोग किया। उन्होंने अपने इन अनुभवों और सह सहयोग के पलों को फोटो के रूप में rajasthanicinema.tk के पाठकों के लिए भेजा है।

मीडिया के लिए माटी का लाल का विशेष शो आज

नारायणसिंह तिराहा स्थित पिंकसिटी प्रेस क्लब में दोपहर 2:30 बजे प्रीमियर
जयपुर. राजस्थानी फिल्म माटी का लाल का शनिवार दोपहर 2:30 बजे नारायणसिंह तिराहा स्थित पिंकसिटी प्रेस क्लब में मीडिया के लिए विशेष शो  रखा गया है।
सामाजिक समरसता का संदेश देती नक्षत्र एंटरटेनमेंट की यह फिल्म दो घंटे की है। इसके निर्देशक लखविंदर सिंह हैं तथा निर्माता नितिन जोशी हैं। फिल्म के सिनेमेटोग्राफर एस जहांगीर हैं। संवाद व कहानी केनन अय्यर ने लिखी है। फिल्म में दो हीरो हैं-नितिन जोशी एवं रमेश गुणावता। मुख्य खलनायक जयपुर के अंदाज खान हैं तथा उनके सहयोगी की भूमिका में हैं सिकंदर चौहान। स्वाति अग्रवाल, सुदीप, रमेश गुनावता, नेहा, प्रदीप एवं कुसुम गुप्ता ने भी महत्वपूर्ण किरदार निभाए हैं।

अभिनेता सिकंदर अब्बास चौहान

 जन्म जयपुर (राजस्थान)उम्र 38 वर्षशिक्षा बीए-बीएड (उर्दू)पहली राजस्थानी फिल्म माटी का लाल गुर्जर मीणाअब तक तीन राजस्थानी फिल्मों में अभिनय किया। माटी का लाल गुर्जर मीणा व महर करो पपळाज माता रिलीज। साथ कदे न छूटे निर्माणाधीन।विशेष
1988 से रंगमंच पर सक्रिय। 15 धारावाहिक, 3 विज्ञापन और 12 टेली फिल्मों में अभिनय किया, जो विभिन्न चैनलों पर प्रसारित हो चुकी हैं। 900 से भी ज्यादा नुक्कड़ नाटकों में अभिनय।संपर्क
mob. no. +919309252286

निर्देशक लखविंदर सिंह

जन्म
पंजाब में ।पहली रिलीज राजस्थानी फिल्म माटी का लाल गुर्जर मीणा।राजस्थानी सिनेमा में योगदान तीन राजस्थानी फिल्मों का निर्देशन। माटी का लाल गुर्जर मीणा व महर करो पपळाज माता रिलीज हो चुकी है तथा साथ कदे ना छूटे पर काम चल रहा है। अब तक 15 साल से फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय। इस दौरान कई धारावाहिकों व वीडियो एल्बमों का निर्देशन भी किया।इन दिनों राजस्थानी फिल्म साथ कदे ना छूटे तथा हिंदी फिल्म होल्ड माई हैंड के प्री प्रोडक्शन कार्य में व्यस्त।प्रयास राजस्थानी सिनेमा को वह सम्मान मिले जिसका वह हकदार है। सिनेमा की कहीं बात चले तो अन्य रीजनल सिनेमा की तरह इसका भी जिक्र हो। इस पर भी चर्चा हो।संपर्क mob. no. +919769679319, +918696028602

आज रिलीज होगी 'महर करो पपळाज माता'

 लालसोट (दौसा जिला). राजस्थानी फिल्म महर करो पपळाज माता 18 नवंबर को यहा नटराज सिनेमा हॉल में रिलीज होगी।
एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर मनीष कांडे ने बताया कि फिल्म की शूटिंग लालसोट एवं आसपास के क्षेत्र में की गई है। मुंबई के कलाकारों के साथ ही स्थानीय कलाकारों को भी इसमें पूरा-पूरा मौका दिया गया है। विशेष बात यह है कि सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा ने भी इसमें अभिनय किया है। फिल्म की निर्माता अनीता कांडे तथा निर्देशक लखविंदर सिंह हैं। रमेश गुणावता, नितिन जोशी, तिया गंदवानी, प्रीति गंदवानी, फिरोज पठान, केदारजी लालसोट प्रधान, आंधावा सरपंच रामसिंह, तूफानजी नेता, कानजी मीणा, शंभूजी डिडवाना ने फिल्म में विभिन्न भूमिकाएं निभाई हैं।

इस फ्राइडे माटी का लाल गुर्जर-मीणा

18 नवंबर को जयपुर के सीकर रोड स्थित अलका सिनेमा में हो रही है रिलीज
जयपुर. हर शुक्रवार को जयपुर के सिनेमाघरों में हिंदी फिल्मों के ही रिलीज होने की परंपरा अब बदल रही है। अब इस दिन राजस्थानी फिल्में भी उपस्थिति दर्ज करा रही हैं। इसी कड़ी में 18 नवंबर को सीकर रोड स्थित अलका सिनेमा में रिलीज हो रही है माटी का लाल गुर्जर मीणा।
सामाजिक सदभाव का संदेश देती नक्षत्र एंटरटेनमेंट की इस फिल्म के निर्माता नितिन जोशी तथा डाइरेक्टर लखविंदर सिंह हैं। फिल्म में दो हीरो हैं इनमें से एक निर्माता नितिन जोशी व एक रमेश गुणावता हैं। मुख्य खलनायक जयपुर के अंदाज खान हैं तथा उनके सहयोगी की भूमिका निभाई है सिकंदर चौहान ने।
लालसोट व सवाई माधोपुर में मचा चुकी है धूम
माटी का लाल गुर्जर मीणा लालसोट में हाउसफुल प्रदर्शन कर चुकी है वहीं सवाईमाधोपुर में यह रा-वन के सामने मजबूती के साथ डटी रही। गंगापुरसिटी, हिंडौन व महावीरजी, बयाना भरतपुर व दौसा में इसे दर्शकों का भरपूर प्यार मिला।

अभिनेत्री : एस. ऊषा जैन

निवास लालकोठी, जयपुर पहली राजस्थानी फिल्म गूजरीअब तक चार राजस्थानी फिल्में-गूजरी, काळजे री कोर, रूणीजा री लाडली, आ म्हारी तीतरी में हीरोइन की भूमिका निभाई। करीब 350 वीडियो एल्बम व 125 टेली फिल्म्स में काम किया।टीनू वर्मा द्वारा निर्देशित भौजपुरी फिल्म धरती पुत्र में नायिका के रूप में अभिनय। विशेष राजस्थानी फिल्मों व एल्बमों में गायिका के रूप में भी सक्रिय। कई राजस्थानी वीडियो एल्बम्स व टेली फिल्मों में सहायक निर्देशक व कोरियोग्राफर के रूप में कार्य किया।इन दिनों स्वयं के प्रोडक्शन बीएबी फिल्म्स एंड कंबाइन्स की नई फिल्म गौणा की तैयारियों में व्यस्त।

खण्डेलवाल संघर्ष समिति के प्रदेश सचिव

जयपुर. गिरिराज खण्डेलवाल अखिल भारतीय राजस्थानी भाषा मान्यता संघर्ष समिति के प्रदेश सचिव नियुक्त किए गए हैं। समिति के प्रदेश महामंत्री डॉ. राजेन्द्र बारहठ ने मंगलवार को उनका नियुक्ति पत्र जारी कर बताया कि खण्डेलवाल प्रदेशभर में चल रहे राजस्थानी भाषा मान्यता आंदोलन में सक्रिय भागीदारी निभाएंगे और उन्हें भरोसा है कि इनके नेतृत्व में आंदोलन और अधिक गति पकड़ेगा।
    खण्डेलवाल की इस नियुक्ति पर समिति के अंतरराष्ट्रीय संयोजक तथा राना के मीडिया चेयरमैन प्रेम भंडारी ने भी प्रसन्नता जाहिर की है। जयपुर निवासी खण्डेलवाल विभिन्न राजनीतिक, सामाजिक व खेल संगठनों में पदाधिकारी हैं तथा वे जयपुर नगर निगम में पार्षद व राजस्थान प्रदेश युवक कांग्रेस में महामंत्री सहित अनेक पदों पर कार्य कर चुके हैं।

निर्माता-निर्देशक जतिन कुमार अग्रवाल

सिल्वर जुबली राजस्थानी फिल्म म्हारी प्यारी चनणां के निर्माता व निर्देशक जतिन कुमार अग्रवाल 1973 से फिल्म जगत में सक्रिय हैं। इन्होंने अपना कैरियर मुख्य सहायक निर्देशक के रूप में शुरू किया। कई बड़े निर्देशकों के साथ काम करने के दौरान खुद को इस क्षेत्र के लिए मजबूत किया और जब लगा कि तैयार हैं तो स्वतंत्र रूप से निर्देशन की कमान संभाली। हम फरिश्ते नहीं फिल्म में इन्होंने स्मिता पाटिल, राज बब्बर, ओम पुरी, अमरीश पुरी, कुलभूषण खरबंदा और पूनम ढिल्लों जैसे कलाकारों को निर्देशित किया। भाग्यश्री, राजेश टंडन और आलोक नाथ स्टारर हिंदी फिल्म मां संतोषी मां, रविकिशन और परेश रावल के अभिनय से सजी भौजपुरी फिल्म हम तो हो गई तोहार के निर्देशक भी यही थे।
कैरियर
निर्देशन
राजस्थानी फिल्म : म्हारी प्यारी चनणां (निर्माण भी)
हिंदी फिल्म : हम फरिश्ते नहीं
हिंदी फिल्म : मां संतोषी मां
भौजपुरी फिल्म : हम तो हो गइन तोहार
हिंदी फिल्म : हम से मिले तुम (रिलीज के लिए तैयार)

फिल्में अभी जिनका निर्देशन कर रहे हैं
सेंट और वारियर
अप्रैल बौछार
संगम (उडिय़ा)

मुख्य सहायक निर्देशक
भूख
चोर मचाए शोर
हीरालाल पन्नालाल
रफ्तार
लखन
लड़ाकू

राजस्थानी फिल्म 'गौणा' का मुहूर्त

बीएसबी स्टूडियो में ऊषा जैन की आवाज में रिकॉर्ड किया गया शीर्षक गीत जयपुर. बीएसबी कंबाइन्स की नई राजस्थानी फिल्म 'गौणा' का मुहुर्त शुक्रवार सुबह 11 बजकर 11 मिनट पर लाल कोठी स्थित बीएसबी रिकॉर्डिंग स्टूडियो में शीर्षक गीत की रिकॉर्डिंग के साथ हुआ।
निर्देशक श्रवण जैन ने बताया कि फिल्म में 21 गाने हैं। यह अपने आप में एक रिकॉर्ड होगा, क्योंकि अब तक किसी भी राजस्थानी फिल्म में इतने गानें नहीं रखे गए हैं।  शीर्षक गीत गौणां कर ले राजाजी अभिनेत्री-गायिका ऊषा जैन की आवाज में रिकॉर्ड किया गया। फिल्म के निर्माता भुवनेश जैन-भूपेन्द्र जैन तथा लेखक जी.ललित राज सैनी हैं। गीत कल्याण सहाय शर्मा व निर्मल मिश्र ने लिखे हैं तथा संगीत निर्मल मिश्र और सिंह होविन्द्र ने दिया है। मुहूर्त पर फिल्मकार जतिन कुमार अग्रवाल, अभिनेता जगदीश व्यास सहित फिल्म से जुड़े अन्य लोग मौजूद थे।

लाडो मरुधरा की शान आज से सीकर व झुंझुनूं में

प्रीमियर के साथ ही दोनों जगह नियमित शो में शुरू हो जाएगा प्रदर्शन जयपुर. राजस्थानी फिल्म लाडो मरुधरा की शान का 11 नवंबर को सीकर और झुझुनूं में प्रीमियर होगा। इसके साथ ही फिल्म का दोनों जगह नियमित प्रदर्शन शुरू हो जाएगा।
निर्देशक शिरीष कुमार ने बताया कि सीकर के सम्राट टॉकीज में पहला और झुंझुनूं के प्रभात टॉकीज में तीसरा शो प्रीमियर शो होगा। इस दौरान फिल्म के कलाकार दोनों सिनेमा हॉल्स में दर्शकों से रूबरू होंगे। फिल्म के निर्माण के दौरान के अपने अनुभव शेयर करेंगे और दर्शकों के सवालों के जवाब भी देंगे।
उन्होंने बताया कि फिल्म को हमने जयपुर के गोलेछा सिनेमा हॉल में रिलीज किया। उस समय लोगों ने हमें कहा था कि जयपुर में राजस्थानी फिल्म रिलीज करना और वह भी मल्टीप्लेक्स में आत्महत्या करने जैसा है।  हम लोगों की इसी सोच को बदलना चाहते थे। हमने अपनी फिल्म रिलीज की और वह भी रॉ-वन जैसी फिल्म के सामने। डरे हुए हम भी थे, पर लाडो ने हमारा सिर नहीं झुकने दिया और सफलतापूर्वक दूसरे सप्ताह में प्रवेश कर लिया। सीकर और झुंझुनूं दिलदारों की धरती है। उम्मीद है कि लोग लाडो को सर-माथ बिठाएंगे।

माटी का लाल आज लगेगी बयाना और दौसा में

हिंडौन गीता टॉकीज व महावीरजी के मोहन टॉकीज में कर रही है अच्छा प्रदर्शन
जयपुर. राजस्थानी फिल्म माटी का लाल गुर्जर मीणा 11 नवंबर को दौसा व बयाना शहर में लगेगी। सामाजिक समरसता का संदेश देने वाली यह फिल्म हिंडौन व महावीरजी के सिनेमा हॉलों में अच्छी भीड़ खींच रही है।
निर्माता नितिन जोशी व निर्देशक लखविंदर सिंह ने बताया कि अब तक फिल्म को जहां पर लगाया वहीं इसने बहुत अच्छा कारोबार किया है। लालसोट में इसने सिंघम के पहले दिन के कारोबार का रिकॉर्ड तोड़ा। सवाईमाधोपुर में इसे रा-वन के साथ प्रदर्शित किया गया था, इसके बावजूद इसने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। रॉ-वन अब वहां उतर चुकी है, लेकिन हमारी फिल्म अभी वहां अच्छी चल रही है। गंगापुरसिटी में भी यह अच्छी रही। हिंडौन के गीता टॉकीज व महावीरजी के मोहन टॉकीज में 7 नवंबर को इसे लगया गया है, जहां दर्शकों का बहुत अच्छा रेस्पांस मिल रहा है। अब हम शुक्रवार से बयाना के लक्ष्मी मंदिर व दौसा के सूर्य मंदिर में लगाने जा रहे हैं।  उम्मीद यही है कि बाकी सेंटरों की तरह इन दोनों जगह भी फिल्म को दर्शकों का खूब प्यार मिलेगा।

"रा-वन" के आगे नहीं हारी राजस्थानी फिल्में

लाडो मरुधरा की शान व माटी का लाल का जोरदार प्रदर्शन, शान से चल रही हैं दूसरे सप्ताह में भी जयपुर . राजस्थानी फिल्मों के बारे में अब लोगों को अपनी यह सोच बदलनी पड़ेगी कि वे चलती नहीं हैं। हाल ही रिलीज हुई दो राजस्थानी फिल्मों माटी का लाल गुर्जर मीणा और लाडो मरुधरा की शान ने यह साबित कर दिया कि सही प्रमोशन और सिनेमा हॉल मिले तो वे भी जबर्दस्त कारोबार कर सकती हैं, फिर मुकाबले में चाहे शाहरूख खान की फिल्म रा-वन ही क्यों न हो।
लाडो मरुधरा की शान और माटी का लाल दोनों फिल्में दीपावली पर रिलीज हुई थी। हालांकि, निर्माताओं के इस फैसले को अधिकतर लोगों ने आत्महत्या करने जैसा बताया था, लेकिन उनका कदम सही साबित हुआ। लाडो जयपुर के गोलेछा सिनेमा हॉल में मुकाबले में थी तो माटी का लाल सवाईमाधोपुर के प्रकाश सिनेमा व गंगापुरसिटी के सिनेमा हॉल में। माटी का लाल वहां धरती पकड़ पहलवान साबित हुई और रा-वन को पछाड़ दिया। वह वहां दूसरे सप्ताह में भी शान से चल रही है। लाडो ने भी जयपुर में नई लकीर खींच दी है। रा-वन जैसी फिल्म के आगे वह दूसरे सप्ताह में भी डटी हुई है। राजधानी में लाडो का यह प्रदर्शन अन्य निर्माताओं…