पगड़ी और कंगना होंगी आमने-सामने!



सब कुछ तय कार्यक्रम के अनुसार हुआ तो अक्टूबर में दो राजस्थानी फिल्में भिडेंग़ी। एक है पगड़ी, जिसके हीरो श्रवण सागर हैं । दूसरी है कंगना, जिसमें शिवेंद्र लीड रोल में है।  मजे की बात है यह है कि दोनों फिल्मों की हीरोइन एक ही है, रूही चतुर्वेदी।


कंगना के निर्माता नंदकिशोर चतुर्वेदी ने अपनी फिल्म 7 अक्टूबर को रिलीज करने की घोषणा की है। सूत्रों के अनूसार इसी तारीख को पगड़ी रिलीज करने की योजना श्रवण सागर काफी समय से बनाए हुए हैं। हालांकि, सागर ने अभी अपनी फिल्म की ऑफिशियल रिलीज डेट घोषित नहीं की है, लेकिन सूत्र बताते है कि श्रवण सागर अपना फैसला नहीं बदलने वाले। ऐसे में अगर कोई फेर बदल नहीं हुआ तो 7 अक्टूबर को दोनों फिल्में आमने-सामने होंगी। लोगों का मानना है कि ऐसा हुआ तो दोनों फिल्मों को नुकसान होगा।  उनके अनुसार एक तो राजस्थानी फिल्मों को वैसे ही दर्शक कम मिलते हैं और दो फिल्में एक साथ आएंगी तो देखने वाले लोग बंट जाएंगे, जिसका खमियाजा दोनों फिल्मों के निर्माताओं को उठाना पड़ेगा। उधर, कुछ लोग इसे अच्छा भी मान रहे हैं राजस्थानी फिल्म इंडस्ट्री के लिए। उनका कहना है कि इससे पब्लिक में यह संदेश जाएगा कि राजस्थानी फिल्मों को पुराना दौर वापस आ रहा है। फिल्में बड़ी संख्या में बनने लगी हैं। एक-एक सप्ताह में दो-दो फिल्में रिलीज होने लगी हैं।

Comments

Shravan Sagar said…
Jay shiv bhaiya ki...
Shravan Sagar said…
Jay shiv bhaiya ki...
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (17-09-2016) को "अब ख़ुशी से खिलखिलाना आ गया है" (चर्चा अंक-2468) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'
Shivraj Gujar said…
धन्यवाद शास्त्री जी। मुझे खुशी होगी।
Shivraj Gujar said…
धन्यवाद शास्त्री जी। मुझे खुशी होगी।