Skip to main content

शिरीष कुमार सड़क हादसे में घायल, फिल्म की शूटिंग टली


अणची मां प्रोडक्शन के बैनर तले बन रही राजस्थानी फिल्म बाबो भात भरयो गुर्जरी को का मुहूर्त आज सुबह 9:15 बजे होना था नरैना के दादू द्वारा में 







जयपुर। निर्देशक शिरीष कुमार के देर रात सड़क हादसे में घायल हो जाने के कारण राजस्थानी फिल्म बाबो भात भरयो गुर्जरी को का मुहूर्त कुछ दिन के लिए टाल दिया गया है। उनके स्वस्थ होते ही मुहूर्त व शूटिंग की अगली तारीख की घोषणा की जाएगी।
 निमार्ता पूर्व विधायक भैरोंसिंह गुर्जर की गुर्जर अणची मां प्रोडक्शन के बैनर तले बन रही इस फिल्म का मुहूर्त नरैना के दादू द्वारा में आचार्य गोपाल दासजी महाराज के सानिध्य में आज सुबह 9:15 बजे होने वाला था। इसकी पूरी तैयारियां कर ली गर्इं थी। निर्देशक शिरीष कुमार रात को कार से नरैना के लिए रवाना हुए। आधी रात करीब 3 बजे सिरसी रोड पर पांच्यावाला के समीप चालक को अचानक झपकी आने से संतुलन बिगड़ गया और कार पेड़ से जा टकराई। हादसा इतना जबरदस्त था कि गाड़ी पूरी तरह से डेमेज हो गई। अच्छी बात यह रही कि पीछे से पुलिस जीप आ रही थी। पुलिसकर्मियों ने एंबुलेंस बुला दी और घायलों को तुरंत एसएमएस अस्पताल पहुंचाया। उपचार के बाद आज सुबह शिरीष कुमार व उनके साथ वालों को छुट्टी दे दी गई।

टेक्निकल टीम को वापस भेजा

निर्माता भैरोंसिंह ने बताया कि हमारी पूरी तैयारी थी। मुंबई से टेक्निकल टीम भी पहुंच चुकी थी। अचानक हादसे की खबर आई तो सब धरा रह गया। शिरीष कुमार के स्वस्थ हुए बगैर मुहूर्त कैसे कर सकते थे, इसलिए टेक्निकल टीम को वापस मुंबई रवाना किया। शिरीष कुमार के स्वस्थ होते ही शूटिंग शुरू करेंगे।

Comments

Popular Posts

राजस्थानी फिल्म शंखनाद का पोस्टर लांच

जयपुर। श्रवण सागर की अपकमिंग राजस्थानी फिल्म शंखनाद का पोस्टर मालवीय नगर स्थित होटल ग्रांड हरसल में किया गया। महाराणा प्रताप के सैनानी गाडिया लुहारों की वर्तमान हालत और पिछड़ेपन पर बनी इस फिल्म का निर्देशन संतोष क्रांति मिश्रा ने किया है।

फिल्म के प्रोड्यूसर मनोज यादव व प्रजेंटर अनिल यादव ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि लोगों को यह फिल्म जरूर पसंद आएगी। फिल्म में मुख्य भूमिका निभा रहे अभिनेता श्रवण सागर ने कहा कि यह फिल्म उनके दिन के बहुत करीब है। इसमें मेरा किरदार मेरे अब तक निभाए किरदारों से एकदम अलग है। इसके लिए मुझे गाड़िया लुहारों के रहन-सहन, उनके उठने-बैठन और बात करने का तरीका सीखने के लिए काफी तैयारी करनी पड़ी। मैं उन लोगों से मिला भी। उनके बीच रहा भी। इस दौरान मैंने देखा कि कितनी विपरीत परिस्थितियों में वे जीवन जी रहे हैं। थोड़ी परेशानी तो हुई, लेकिन इस दौरान का अनुभव शंखनाद में निभाई गई भूमिका में रम जाने में बहुत मददगार रहा। इस मौके पर बिजनेसमैन अरुण गोयल, विकास पोद्दार और अशोक प्रजापति भी मौजूद रहे।

फिल्म में श्रवण सागर ,संजना सेन, सजल गोयल ,अथर्व श्रीवास्तव ,रॉकी संतोष, गोविंद …

अब तक रिलीज राजस्थानी फिल्में

1942
1 नजराना
1961
2 बाबासा री लाडली
1963

राजस्थानी फिल्म ट्रिपल बी 21 को होगी रिलीज

Recent in Sports