Skip to main content

बनकर तैयार है यह राजस्थानी फिल्म, सेंसर के लिए भेजी

गाड़िया लुहारों के जीवन में बदलाव का शंखनाद है श्रवण सागर की यह राजस्थानी फिल्म

जयपुर। राजस्थान की घुमंतु जाति और राणा प्रताप के सैनिकों के रूप में पहचान रखने वाले गाड़िया लुहारों के जीवनस्तर में भी सुधार आने लगा है। अब वे भी अपने बच्चों को पढ़ाने पर ध्यान देने लगे हैंं। बदलाव की इस लहर को लाने वालों में से एक गाडिया लुहार के जीवन से प्रेरित है राजस्थानी फिल्म शंखनाद। श्रवण सागर की मुख्य भूमिका वाली संतोष क्रांति मिश्रा के निर्देशन में बनी इस फिल्म के निर्माता हैं भवानीसिंह शेखावत व मनोज यादव।

अभिनेता श्रवण सागर ने बताया कि यह फिल्म गाड़िया लुहारों का जीवनस्तर ऊंचा उठाने में तो सहायक होगी ही साथ उनको शिक्षा का महत्व बताते हुए अपने बच्चों को पढ़ाने की प्रेरणा देगी। निर्माता मनोज यादव व भवानी सिंह शेखावत ने बताया कि इस फिल्म के बनाने के पीछे हमारा मकसद अच्छा सिनेमा बनाना है। हमने राजस्थानी सिनेमा को नई पहचान देने की कोशिश की है। निर्देशक संतोष मिश्रा ने बताया कि पोस्ट प्रोडक्शन कार्य पूरा हो चुका है और फिल्म को सेंसर के लिए भेज दिया है।

अभिनेता श्रवण सागर इसमें एक लुहार की भूमिका में हैं। उन्होंने एक गाड़ी में अपना सारा गुजार देने वाली जाति के एक ऐसे आदमी की भूमिका को साकार किया है जो सभी विपरीत हालातों और विरोध के बाद भी अपने बच्चे को पढ़ा लिखाकर शिक्षक बना देता है। सागर के अपोजिट संजना सैन हैं और क्षितिज कुमार एक मंत्री के रोल में हैं। फिल्म में हरि नारायण चौधरी, अशोक, विनोद सोनी, अन्नू कंवर, दीप्ती सैनी, अमन, मास्टर सजल गोयल, अथर्व श्रीवास्तव व गोविंद सिंह भी महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं।



कास्ट एंड क्रू

फिल्म : शंखनाद
बैनर : रु आर्यन एंटरटेनमेंट
निर्माता : भवानी सिंह शेखावत और मनोज यादव
निर्देशक : संतोष क्रांति मिश्रा
डीओपी : अभय आनंद
क्रियटिव हेड : ऋतू राज बांका
ईपी- अनिल जैन
एडिटर : नीरज गोतम
म्यूजिक : अनिल डूडी
प्रोडक्शन : रॉकी एस संतोष
कलाकार : श्रवण सागर, संजना सैन, क्षितिज कुमार, हरि नारायण चौधरी, अशोक, विनोद सोनी, अन्नू कंवर, दीप्ती सैनी, अमन, मास्टर सजल गोयल, अथर्व श्रीवास्थाव व गोविंद सिंह।

Comments

Popular posts from this blog

एक और राजस्थानी फिल्म रिलीज के लिए तैयार, 12 को होगा म्यूजिक रिलीज

जयपुर।  निर्देशक अनिल सैनी की एक और राजस्थानी फिल्म रिलीज के लिए तैयार है-जाग्रति। इसका म्यूजिक 12 अगस्त को शास्त्रीनगर स्थित साइंस पार्क में आयोजित वंदे मातरम कार्यक्रम में रिलीज किया जाएगा। इस मौके पर फिल्म के पोस्टर का विमोचन भी होगा।

शशि सुंदर फिल्म के बैनर तले बनी इस फिल्म के निर्माता हैं  भवर सिंह। सूत्रों के अनुसार सबकुछ योजनानुसार रहा तो शिक्षा के महत्व को दर्शाती यह फिल्म अगले महीने सिनेमाघरों में पहुंच जाएगी।

कास्ट एंड क्रूबैनर : शशि सुंदर फिल्म
निर्माता : भंवर सिंह
निर्देशक : अनिल सैनी
लेखक : योगेश बालोत
डीओपी : सुनील
एडिट : संदीप सैनी
मेकअप : संजय सेन, पंकज सेन
म्यूजिक : करण सिंह,अमन अमोस
गीत : अनिल भूप
सिंगर : अमन अमोस, सुमन मेहता
कलाकार : राशि शर्मा, योगेंद्र वर्मा, योगेश बालोत, महेश महावर, प्राची, हितेश सैनी,आनद गंगवार, मोहित, तरुण, राजेश भार्गव, सेलेष, शिव, विनोद, सुनील जैन, कौसल्या, विनता,  अंसुमान, सौम्य, अभी, भूमि और अन्य।

अब तक रिलीज राजस्थानी फिल्में

1942
1 नजराना
1961
2 बाबासा री लाडली
1963

नखराळा देवरिया अब भोजपुरी फिल्मों में मचाएगा धूम

जयपुर। सुपातर बीनणी से नखराळो देवरियो के रूप में फेमस हुए राजस्थानी फिल्मों के जाने-माने अभिनेता क्षितिज कुमार ने अब भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में भी पांव जमाने शुरू कर दिए हैं। वे इन दिनों दो भोजपुरी फिल्मों में अभिनय कर रहे हैं। एक है ना जाने कब प्यार हो गइल और दूसरी है जन्नत-ए-इश्क


क्षितिज कुमार ने बताया कि दोनों ही फिल्मों में उनका रोल पावरफुल है। दोनों में ही वो हीरोइन के पिता के किरदार के रूप में नजर आएंगे। चूंकि, हीरोइन के पिता हैं तो उनके हीरोइन के साथ भी सीन हैं तो हीरो के साथ भी। उन्होंने बताया कि ना जाने कब प्यार हो गइल के डाइरेक्टर रामकिशन साहनी हैं। इस फिल्म में उनके साथ घनश्याम, रामकिशन साहनी, प्रिया, अनुराधा और रोशनी महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं। इसकी शूटिंग काशीपुर, जैतपुर और नैनीताल व आसपास के क्षेत्र में चल रही है।


जन्नत ए इश्क के प्रोड्यूसर पंकज भोमिया हैं और डाइरेक्शन नीरज भारद्वाज कर रहे हैं। इस फिल्म में वे प्रिया रंजन, मिस इंडिया रही कैरिनिका मिश्रा, सुशील सिंह, और ललितेश झा जैसे कलाकारों के साथ काम कर रहे हैं।