Skip to main content

राजस्थानी सिनेमा की हालत खराब, 7 महीने में तीन फिल्में ही हुई रिलीज


जयपुर। राजस्थानी सिनेमा की इन दिनों हालत खराब चल रही है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस साल जुलाई के अंत तक 7 महीने में मात्र तीन राजस्थानी फिल्में रिलीज हुई हैं। मतलब दो महीने में एक फिल्म का भी एवरेज नहीं। इसके उलट पिछले साल स्थिति थोड़ी ठीक थी। मई तक ही छह फिल्में रिलीज हो गई थीं।

इस साल जनवरी और फरवरी दोनों राजस्थानी फिल्मों की रिलीज के हिसाब से सूखे रहे। एक भी फिल्म रिलीज नहीं हुई। 9 मार्च को इस साल की पहली फिल्म चाल म्हारी ढोलकी ढमाक ढम सुजानगढ़ में रिलीज हुई। इसके बाद 20 जुलाई को माटी हेलो पाड़े रे सूरत में और 27 जुलाई को मोसर सोजत में रिलीज हुई।

2017 में इस साल से अच्छी थी स्थिति

पिछले साल जनवरी में कोई फिल्म रिलीज नहीं हुई। फरवरी से श्रीगणेश हुआ। दूसरे सप्ताह में 10 फरवरी को दो फिल्में एक साथ रिलीज हुर्इं, नरसी भक्त नानी बाई रो मायरो और पक्की हीरोगिरी। मार्च के अंत में 31 तारीख को तावड़ो का प्रदर्शन हुआ। अप्रैल में दो फिल्में सिनेमाघरों में पहुंची। लाडली 7 अप्रैल को और मां 21 अप्रैल को सिनेमाघरों में पहुंची। मई में भी एक फिल्म लाडेसर 12 तारीख को प्रदर्शित हुई। जून व जुलाई रीते गए।


Comments

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (25-08-2018) को "जीवन अनमोल" (चर्चा अंक-3074) (चर्चा अंक-2968) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Popular Posts

राजस्थानी फिल्म शंखनाद का पोस्टर लांच

जयपुर। श्रवण सागर की अपकमिंग राजस्थानी फिल्म शंखनाद का पोस्टर मालवीय नगर स्थित होटल ग्रांड हरसल में किया गया। महाराणा प्रताप के सैनानी गाडिया लुहारों की वर्तमान हालत और पिछड़ेपन पर बनी इस फिल्म का निर्देशन संतोष क्रांति मिश्रा ने किया है।

फिल्म के प्रोड्यूसर मनोज यादव व प्रजेंटर अनिल यादव ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि लोगों को यह फिल्म जरूर पसंद आएगी। फिल्म में मुख्य भूमिका निभा रहे अभिनेता श्रवण सागर ने कहा कि यह फिल्म उनके दिन के बहुत करीब है। इसमें मेरा किरदार मेरे अब तक निभाए किरदारों से एकदम अलग है। इसके लिए मुझे गाड़िया लुहारों के रहन-सहन, उनके उठने-बैठन और बात करने का तरीका सीखने के लिए काफी तैयारी करनी पड़ी। मैं उन लोगों से मिला भी। उनके बीच रहा भी। इस दौरान मैंने देखा कि कितनी विपरीत परिस्थितियों में वे जीवन जी रहे हैं। थोड़ी परेशानी तो हुई, लेकिन इस दौरान का अनुभव शंखनाद में निभाई गई भूमिका में रम जाने में बहुत मददगार रहा। इस मौके पर बिजनेसमैन अरुण गोयल, विकास पोद्दार और अशोक प्रजापति भी मौजूद रहे।

फिल्म में श्रवण सागर ,संजना सेन, सजल गोयल ,अथर्व श्रीवास्तव ,रॉकी संतोष, गोविंद …

अब तक रिलीज राजस्थानी फिल्में

1942
1 नजराना
1961
2 बाबासा री लाडली
1963

राजस्थानी फिल्म ट्रिपल बी 21 को होगी रिलीज

Recent in Sports