Skip to main content

म्हैं राखांला मान

राजस्थानी फिल्म महोत्सव : दूसरे दिन फिल्म डूंगर रो भेद और बाबा रामदेव का प्रदर्शन किया गया, वहीं कृष्णायन में राजस्थानी फिल्मों के तकनीकी पक्ष पर हुआ विचार-विमर्श
 सुरेन्द्र बगवाड़ा . जयपुर
राजस्थानी फिल्म महोत्सव के दूसरे दिन शनिवार को जहां रंगायन सभागार में फिल्म 'डूंगर रो भेदÓ और 'बाबा रामदेवÓ का प्रदर्शन किया गया, वहीं कृष्णायन में 'राजस्थानी फिल्मों के तकनीकी पक्षÓ पर विचार-विमर्श हुआ। इस मौके पर निर्माता महेन्द्र धारीवाल ने कहा कि यदि सही तरीके से फिल्मों का बाजारीकरण हो तो इन्हीं फिल्मों से सोना कमाया जा सकता है। उन्होंने राज्य सरकार से राजस्थानी फिल्मों के लिए सिनेमा हॉल की मांग रखी। दूसरे सेशन 'राजस्थानी फिल्मों का गीत संगीतÓ में साहित्यकार इकराम राजस्थानी ने अपने गीतों की रचनाएं सुनाईं। उन्होंने कहा कि गीत के अनुकुल संगीत हो, संगीत के अनुकूल फिल्मांकन हो, तब ही सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देख सकते हैं। संगीतकार ललित सेन ने कहा कि यही भाषा है, जो हर प्रदेश के चैनलों पर टीवी सीरियलों के माध्यम से सुनाई दे रही है। यूपी, पंजाब, गुजरात जैसे प्रदेशों के संगीत का खजाना खत्म हो चुका है। राजस्थानी खुला है खुला ही रहेगा। जेकेके महानिदेशक हरसहाय मीणा ने कहा कि जनवरी 2012 में अप्रवासी सम्मेलन में महोत्सव का लाभ मिलेगा। शाम को 'गीतां रो गजरौÓ का प्रदर्शन हुआ। रविवार को 3 बजे 'सुपात्तर बीनणीÓ और शाम 6 बजे 'भोमलीÓ फिल्म का प्रदर्शन होगा।
(source-citybhaskar,jaipur

Comments

Popular Posts

अब तक रिलीज राजस्थानी फिल्में

1942
1 नजराना
1961
2 बाबासा री लाडली
1963

म्हारी सुपातर बीनणी का तीसरे सप्ताह में प्रवेश

सीकर के सम्राट सिनेमा में सफलतापूर्वक दो सप्ताह पूरे फनी पिपुल एंटरटेन्मेंट प्राइवेट लिमिटेड बैनर तले बनी राजस्थानी फिल्म म्हारी सुपातर बींदणी सीकर के सम्राट सिनेमा में सफलतापूर्वक दो सप्ताह पूरे करने के बाद तीसरे में प्रवेश कर गई है। राजस्थानी सिनेमा के चाहने वालों के लिए यह बड़ी खुशखबरी है,

राजस्थानी फिल्म शंखनाद का पोस्टर लांच

जयपुर। श्रवण सागर की अपकमिंग राजस्थानी फिल्म शंखनाद का पोस्टर मालवीय नगर स्थित होटल ग्रांड हरसल में किया गया। महाराणा प्रताप के सैनानी गाडिया लुहारों की वर्तमान हालत और पिछड़ेपन पर बनी इस फिल्म का निर्देशन संतोष क्रांति मिश्रा ने किया है।

फिल्म के प्रोड्यूसर मनोज यादव व प्रजेंटर अनिल यादव ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि लोगों को यह फिल्म जरूर पसंद आएगी। फिल्म में मुख्य भूमिका निभा रहे अभिनेता श्रवण सागर ने कहा कि यह फिल्म उनके दिन के बहुत करीब है। इसमें मेरा किरदार मेरे अब तक निभाए किरदारों से एकदम अलग है। इसके लिए मुझे गाड़िया लुहारों के रहन-सहन, उनके उठने-बैठन और बात करने का तरीका सीखने के लिए काफी तैयारी करनी पड़ी। मैं उन लोगों से मिला भी। उनके बीच रहा भी। इस दौरान मैंने देखा कि कितनी विपरीत परिस्थितियों में वे जीवन जी रहे हैं। थोड़ी परेशानी तो हुई, लेकिन इस दौरान का अनुभव शंखनाद में निभाई गई भूमिका में रम जाने में बहुत मददगार रहा। इस मौके पर बिजनेसमैन अरुण गोयल, विकास पोद्दार और अशोक प्रजापति भी मौजूद रहे।

फिल्म में श्रवण सागर ,संजना सेन, सजल गोयल ,अथर्व श्रीवास्तव ,रॉकी संतोष, गोविंद …

Recent in Sports